बंद करे

राष्ट्रीय

चित्र उपलब्द नहीं है

आरोग्य सेतु आईवीआरएस 1921

प्रकाशित किया गया: 05/05/2020

आरोग्य सेतु आईवीआरएस 1921- आरोग्य सेतु के संरक्षण में फीचर फोन और लैंडलाइन वाले नागरिकों को शामिल करने के लिए, राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केन्द्र ने आरोग्य सेतु आईवीआरएस लागू किया है। यह सेवा पैन-इंडिया उपलब्ध है। यह एक टोल फ्री सेवा है। उपयोगकर्ता 1921 नंबर पर एक मिस्ड कॉल देगा। कॉल डिस्कनेक्ट हो जाएगा और […]

और
सर्वोदय जैन मंदिर मूर्ति

श्री सर्वोदय दिगम्बर जैन मंदिर

प्रकाशित किया गया: 06/08/2019

श्री सर्वोदय दिगम्बर जैन मंदिर में प्रथम तीर्थंकर परम आराध्य 1008 भगवान श्री आदिनाथ की अद्भुत, मनोज्ञ, विशाल, विश्व में सर्वाधिक वजनी 24 टन अष्टधातु की प्रतिमा को 28 टन अष्टधातु के कमल पर विराजित (कुल वजन 52 टन) किया गया है| यह मंदिर राष्ट्र और विश्व में स्वर्ण मंडित है। प्रतिमा ज्ञानवारिधि आचार्य श्री […]

और
केंद्रीय विद्यालय अनुपपुर

अनूपपुर जिले में केन्द्रीय विद्यालय का उद्घाटन

प्रकाशित किया गया: 03/08/2019

अनूपपुर जिले में केन्द्रीय विद्यालय का उद्घाटन

और
श्री यंत्र मंदिर

श्री यन्त्र मंदिर

प्रकाशित किया गया: 03/08/2019

इस मंदिर की सबसे प्रमुख विशेषता प्रवेश द्वार पर 4 सिर वाली विशाल मूर्ति है।यह चेहरे प्रमुख देवी लक्ष्मी, सरस्वती, काली और भुवनेश्वरी का प्रतिनिधित्व करते हैं। उनके नीचे भगवान गणेश और कार्तिक की मूर्तियों के साथ 64 योगिनियों की मूर्तियां हैं। मंदिर को श्री यंत्र / श्री चक्र के 3 डी प्रक्षेपण के रूप […]

और
माई की बगिया में वृक्ष

माई की बगिया

प्रकाशित किया गया: 03/07/2019

पूर्व दिशा में नर्मदा मंदिर से 1 किमी की दूरी पर माई की बगिया है। जिसे ‘चरणोतक कुंड’ भी कहा जाता है। यह अपनी प्राकृतिक सुंदरता के लिए जाना जाता है। ग्रामीणों के बीच प्रचलित लोक कथा के अनुसार, नर्मदा अपने मित्र के साथ इस जगह पर खेलती थी, एक सुंदर लड़की, जिसका नाम गुलाबकवली […]

और
सोन जल प्रपात

सोनमुडा

प्रकाशित किया गया: 28/06/2019

दक्षिण दिशा में नर्मदा मंदिर से 2 कि.मी. दूरी पर सोनमुधा नर्मदा सहायक नदी सोनभद्र का जन्म स्थान है, जहाँ सोन (भगवान ब्रह्मा के पुत्र) और भद्रा नाम के दो कुंड मिलकर सोनभद्र का निर्माण करते हैं, और यहाँ से बहते हैं। सोनभद्र (300 फीट ऊंचाई) के नाम पर एक जलप्रपात भी है।

और
नर्मदा मंदिर

नर्मदा उदगम मंदिर

प्रकाशित किया गया: 21/03/2018

अमरकंटक, विंध्य और सतपुड़ा पहाड़ियों की पर्वत श्रृंखला में स्थित एक छोटा सा गाँव है, जहाँ से नर्मदा नदी पहाड़ी से निकलती है |जिसे गाय के मुँह के आकार का बनाया गया है। ऐसा कहा जाता है कि यह मैकल, व्यास और ब्रिघू आदि ऋषि जैसे महान संतों के लिए ध्यान का स्थान था। नर्मदा […]

और